Health Benefits of Betel leaf पान के पत्ते के फायदे - हिंदी में - nanoworld

Latest

Translate

Health Benefits of Betel leaf पान के पत्ते के फायदे - हिंदी में

पान के पत्ते के फायदे - हिंदी में

Paan ke patte ke fayde in hindi:- पान के पत्ते को अक्सर पूजा पाठ में इस्तेमाल होते तो अपने देखा होगा।आयुर्वेद  में पान खाने के बहुत से फायदे बताए गए हैं।  पान के पत्ते का स्वाद खाने में  कुछ कसैला होता हैं। पान के पत्ते में सुपारी गुलकंद कहथा तथा चुना इत्यादि लगा कर इसे बज़्ज़ारो में बेचा जाता हैं।
Health Benefits of Betel leaf



पान  खाने वालो की मांग पर पान को कई प्रकार से बनया जाता हैं। पान खाने के लाभ और हानि को जाने बिना कुछ लोग इसके आदि हो जाते हैं। इस लेख में हम पान का पत्ता खाने के फायदे और नुकसान पर चर्चा करेंगे।paan ke patte ke totke

पान का पत्ता खाने के फायदे Betel leaf benefits

paan ke patte ke fayde, betel leaf in hindi

पाचन क्रिया सुधारने की दवा

पान पाचन शक्ति बढ़ाने में सहायक होता है यह  जठराग्नि तेज करने में मदद करता हैं।betel leaf  खाना खाने के बाद पान खाने से खाना बहुत अछि तरह पच जाता हैं। पान के इस औषदीय गन के कारण कुछ लोग रोज खाना खाने के बाद पाचन क्रिया सुधारने की दवा की तरह एक पान खाना पसंद करते हैं। 

मुंह से बदबू हटाने की दवा

मुंह की बदबू के घरेलू उपाय पान खाने से सांसों की बदबू का इलाज होता है। पान के साथ(betel leaf) सुपारी सौंफ गुलकंद त्तथा अदरक मिला कर खाने से मुँह से बदबू आना बंद हो जाता हैं।और पाचन तंत्र भी ठीक रहता हैं। इसका उपयोग माउथ फ्रेशनर के तरह काम करता हैं। Paan ke patte ke totke.

  • मुंह के छाले कैसे ठीक करें

मुंह के छाले ठीक करने का घरेलू उपाय

मुंह के छाले का कारण खाने खाना में बहुत समस्या हो जाती हैं। मुँह के छालो के लिए  पान के पत्ते को एलोवेरा के रस तथा गिलोय के रश के साथ दिन में दो बार इस्तेमाल करना चाहिए। यह मुँह के छालो के लिए रामबाण औसधि हैं।
  • यूरिक एसिड की आयुर्वेदिक दवा?

 यूरिक एसिड में पान के फायदे

बड़े हुए यूरिक एसिड में पान के फायदे यूरिक एसिड घरेलू उपचार यूरिक एसिड कम करने के लिए पान के पत्ते के साथ अदरक,अजवयण शहद के साथ  खाने से पाचन तंत्र ठीक से काम करता हैं।

 जिससे यूरिक एसिड से होने वाले दर्द में रहत मिल सकती हैं। आयुर्वेद में पान के पत्ते को यूरिक एसिड की आयुर्वेदिक दवा के लिए भी प्रयोग किया जाता हैं। betel leaf in hindi
  • बवासीर को जड़ से खत्म कैसे करें?

पान के पत्ते से बवासीर का इलाज

बवासीर के मस्से सुखाने के उपाय पान के पत्ते से पुरानी-पुरानी बवासीर का इलाज करना सम्भब हैं। पुराने समय में पान के पत्ते को बवासीर की दवा के रूप में प्रयोग जाता रहा है। पान के पत्ते में भोजन को पचाने के गुण पाए जाते हैं।  
 
बवासीर के  इलाज के लिए पान के पत्ते को त्रिफला चूर्ण,अमरबेल का रस तथा गिलोय के पाउडर के साथ इस्तेमाल करना चाहिए। इसके इस्तेमाल से बवासीर को जड़ से खत्म किया जा सकता हैं। 

पीलिया का घरेलू इलाज 

पान के पत्ते पीलिया के उपचार में बहुत मददगार साबित होते हैं। कुछ लोगो पीलिया झाड़ना ही पीलिया की दवाई समझते हैं। लेकिन पीलिया झाड़ना कोई दवाई नहीं होती बल्कि यह केवल बहम का इलाज होता हैं। 

अगर आप पीलिया का घरेलू इलाज तलाश रहे हैं। तो आप को बता दे की पान के पत्ते को खाने से अधिक मात्रा में लार बनती हैं। जो की खाने  को पचने में बहुत मदद करता हैं। पान के पत्ते का साथ गिलोय,अदरक,अश्वगंधा तथा नीम पत्ती का उपयोग करना पीलिया में बहुत फायदेमंद होता हैं।

पान खाने के नुकशान  

पान (Betel leaf) को तम्बाखू और सुपारी के साथ खाने से इससे लिवर विकार,पेट दर्द और कई प्रकार की बिमारिओ का खतरा बढ़ जाता हैं।और इससे दांत भी  ख़राब होते हैं। 

betel leaf in hindi
paan ke patte ke totke
paan ke patte ke fayde in hindi

No comments:

Post a Comment

Popular Posts

Must Read special for you

whatsapp se paise kaise kamaye in hindi

 व्हाट्सएप से ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए: whatsapp se paise kaise kamaye in hindi  टॉप ट्रिक्स और स्टेप बाय स्टेप गाइड हालाँकि व्हाट्सएप खुद...